Skip to content
Email: info@maplepress.co.in | Mobile: +91 9717835777, +91 (120) 4553583
Email: info@maplepress.co.in | Mobile: +91 9717835777, +91 (120) 4553583

गोरा

Sale Sale
Original price ₹ 225.00
Original price ₹ 225.00 - Original price ₹ 225.00
Original price ₹ 225.00
Current price ₹ 202.00
₹ 202.00 - ₹ 202.00
Current price ₹ 202.00
SKU MP1683

रवीन्द्रनाथ टैगोर का जन्म 7 मई, सन् 1861 ई. को हुआ था। रवीन्द्रनाथ टैगोर को गुरुदेव के नाम से भी जाना जाता है। वे विश्वविख्यात कवि, साहित्यकार, दार्शनिक और भारतीय साहित्य के एकमात्र नोबल पुरस्कार विजेता हैं। उनकी दो रचनाएं दो देशों की राष्ट्रगान बनी-भारत का राष्ट्रगान "जन गण मन” और बांग्लादेश का “आमार शोनार बाग्ंला।“ गीतांजलि उनकी सर्वश्रेष्ठ रचनाओं में से एक है। इसके लिए उन्हें 1913 में साहित्य का नोबेल पुरस्कार मिला। रवीन्द्रनाथ टैगोर का 7 अगस्त 1941 ई. को देहान्त हो गया था। रवीन्द्रनाथ टैगोर का यह उपन्यास, गोरा और सुचरिता तथा बिनॉय और लोलिता की प्रेम कहानियों के माध्यम से तत्कालीन धार्मिक एवं सामाजिक मान्यताओं तथा रीति-रिवाजों में स्थित असमानता और रुढ़िवादिता को दर्शाता है। ब्रिटिश शासन काल में, बंगाल की पृष्ठभूमि में ‘गोरा’ भारत के राष्ट्रवादी चेतना की जागृति को भी दर्शाता है।

Author
Rabindranath Tagore

Age Group
15+ Years

Language
Hindi

Number Of Pages
416